आग क्या होती है और कार में आग क्यों और कैसे लगती है ? Fire sefty

आग क्या होती है और कार में आग क्यों और कैसे लगती है ? Fire sefty

जब कोई दहनशील पदार्थ पर्याप्त ऑक्सीजन की उपस्थिति में श्रृंखलाबद्ध प्रतिक्रिया को सुचारू रूप से चलाने में सक्षम पर्याप्त ऊष्मा के संपर्क में आता है, तो आग पैदा होती है। इनमें से किसी एक की भी अनुपस्थिति में आग पैदा नहीं हो सकती है। अगर एकबार आग जल जाती है यानी श्रृंखलाबद्ध प्रतिक्रिया शुरू हो जाती है तो जब तक ऑक्सीजन और दहनशील पदार्थ की उपस्थिति रहती है तब तक वह जलती और फैलती रहती है। इस पोस्ट में हम कार में क्यों और कैसे आग लगती है?? उसके बारे में पढ़ेंगे:-

  • एक कार में सैंकड़ों पुर्जे होते है। और जब कार के किसी पुर्जे में खराबी आती है तो उसे किसी अधिकृत सर्विस सेंटर पर ही दिखाना चाहिए। क्योंकि वहाँ पर मौजूद मिस्त्री उस समन्धित कार का प्रशिक्षित होता है। लेकिन आपने देखा होगा कि कई लोगा कुछ पैसा बचाने के चक्कर में अपनी कार को लोकल सर्विस सेंटर पर ही रिपेयर करवा लेते है। जिसका भुगतान हमें बाद में बड़े नुकसान के रूप में भुगतना पड़ता है। कई बार तो यह आग लगने की सबसे बड़ी वजह भी बन जाता है।

  • आजकल नई-नई कारों में एडवांस्ड एक्सेसरीज पहले से ही मौजूद होती है। लेकिन कुछ बेस वैरिएंट में स्टीरियो सिस्टम, सिक्योरिटी सिस्टम और रिवर्स पार्किंग सेंसर्स जैसे कई फीचर्स मौजूद नहीं होते हैं। हालांकि इस तरह की एक्सेसरीज बाजार में आसानी से मिल जाती है। लेकिन समस्या तब आती है जब हम इन्हें अप्रशिक्षित मैकेनिक के द्वारा रिपेयर करवाते है। बता दें एक गलत या नकली वायरिंग से कार में शॉर्ट सर्किट हो जाता है इसलिए वायरिंग का काम किसी अच्छे और एक्सपर्ट मैकेनिक से ही करवाना चाहिए।
  • जहाँ तक संभव हो फैक्ट्री फिटेड सीएनजी किट वाली कार ही खरीदे। मार्केट से किट लगाना पड़े तो अधिकृत सेंटर से ही लगवाना चाहिए। सस्ती और नकली सीएनजी किट में कई बार लीकेज की शिकायत आ जाती है। जिससे आग लगने का खतरा बढ़ जाता है।
  • कार में फालतू की एक्सेसरीज भी नहीं लगवानी चाहिए। ये कार की बैटरी पर ज्यादा लोड बढ़ाती है। जिससे शॉर्ट-सर्किट होने के चांस बने रहते है।
  • कंपनी की ओर से दी जाने वाली फ्री सर्विसिंग खत्म होने के बाद कार मालिक अपनी कार की सर्विस अप्रशिक्षित मैकेनिक से करवाते हैं। कई मामलों में ऐसे मैकेनिक सर्विसिंग के दौरान ऐसी गलतियां कर जाते हैं। जिसकी वजह से गाड़ी में आग लगने की आशंका बढ़ जाती है।

कार में आग लगने के बचाव और उपाय:-

  • अपने कार की समय-समय पर सर्विसिंग कराते रहें। कार में इंजन की सर्विस पर खास ध्यान दें। समय समय पर जरूरत के हिसाब से अपनी गाड़ी के ऑयल फिल्टर, एयर फिल्टर, इंजन कूलेंट और इंजन ऑयल को बदलते रहें। इससे आपकी कार की सेहत अच्छी बनी रहेगी।
  • कार में कभी भी फालतू एक्सेसरीज़ न लगवाएं। ये आपकी कार की बैटरी पर ज्यादा लोड डालते हैं।
  • कभी भी किसी अनाधिकृत डीलर से एलपीजी/सीएनजी किट फिट न कराएं। हमेशा अधिकृत सेंटर से ही ऐसी किट खरीदें और फिट कराएं।
  • कार में बेवजह के मोडिफिकेशन कराने से बचें। ऐसे मोडिफिकेशन से कार में तकनीकी खामियां आने की संभावना बढ़ जाती हैं जो आग लगने की वजह बन सकती है।

आग क्या होती है और कार में आग क्यों और कैसे लगती है ? Fire sefty

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.